हैदराबाद में चल रहे ग्लोबल इंटरप्रेन्योरशिप समिट (GES) में हिस्सा लेने के लिए अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की बेटी और सलाहकार इवांका ट्रंप भारत दौरे पर आई हुई हैं. उनके साथ अमेरिकी उद्यमियों का प्रतिनिधिमंडल भी आया हुआ. जून में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने अमेरिका दौरे के समय काफी सोच समझकर इवांका को GES में आने का न्योता दिया था.
मंगलवार को GES में पीएम मोदी ने इवांका का गर्मजोशी से स्वागत किया. दोनों ने तीन दिवसीय GES का उद्घाटन किया और बैठक की. इस बैठक में विदेश मंत्री सुषमा स्वराज भी शामिल रहीं. अब सवाल यह उठ रहा है कि आखिर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस समिट में हिस्सा लेने के लिए इवांका को ही विशेष रूप से आमंत्रित क्यों किया था? पीएम मोदी ने इस बाबत ट्वीट भी किया था, जिसके बाद इवांका ने इसके लिए शुक्रिया किया था.

 

Delighted to have met you at the White House. Look forward to welcoming you in India for the Global Entrepreneurship Summit later this year. https://t.co/QhQUoDdFtL

—Narendra Modi (@narendramodi) June 27, 2017

 

माना जा रहा है कि पीएम मोदी ने काफी सोच-विचार कर यह फैसला लिया था. इवांका को बुलाने की असली वजह ये मानी जा रही हैं….
साल 2010 के बाद से यह पहला मौका है, जब जीईएस दक्षिण एशिया में आयोजित हो रहा है. इस तीन दिवसीय समिट में करीब 170 देशों के 1,500 उद्यमी हिस्सा ले रहे हैं, जिसमें उद्यमियों का सबसे बड़ा प्रतिनिधिमंडल अमेरिका से आया हुआ है. अमेरिकी प्रतिनिधिमंडल में करीब 350 उद्यमी शामिल हैं. इसमें भारतीय मूल की अमेरिकी महिला उद्यमी भी शामिल हैं. लिहाजा मोदी ने इतने बड़े अमेरिकी प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व करने के लिए इवांका को आमंत्रित करना ज्यादा बेहतर समझा.
इवांका ट्रंप का आमंत्रित करने के पीछे दूसरी वजह यह थी कि इस बार समिट का थीम ‘वोमेन फर्स्ट, प्रोस्परिटी फॉर ऑल’ है और इवांका एक सफल उद्यमी भी हैं. माना जा रहा है कि मोदी ने महिला उद्यमियों और निवेशकों के बीच सकारात्मक संदेश भेजने के इरादे से इवांका को अमेरिकी उद्यमियों के प्रतिनिधिमंडल के नेतृत्व के रूप में आमंत्रित करना ज्यादा उपयुक्त समझा.

 

Thank you for the warm welcome. I’m excited to be in Hyderabad, India for #GES2017. https://t.co/1U08h5L9Rm

—Ivanka Trump (@IvankaTrump) November 28, 2017

 

इवांका ट्रंप अमेरिका की राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की बेटी और सलाहकार हैं. माना जा रहा है कि इवांका का अमेरिकी राष्ट्रपति की बेटी होने की वजह से भी उनको मोदी ने आमंत्रित करना उचित समझा. उनके दौरे से मोदी और ट्रंप प्रशासन के बीच संबंध और प्रगाह होंगे. खासकर अमेरिकी निवेशकों को आकर्षित करने में भी मदद मिलेगी. मालूम हो कि डोनाल्ड ट्रंप की गिनती दुनिया के दिग्गज उद्यमियों में होती है. उनकी बेटी इवांका भी कपड़े के कारोबार से जुड़ी हैं. वो कारोबार के साथ ही प्रशासन में भी डोनाल्ड ट्रंप का साथ दे रही हैं.

loading…